ullu ke fayde owl ke totke

ullu ke fayde owl ke totke

ullu ke fayde owl ke totke उल्लू के टोटके, ” उल्लू के टोटको के बारे में तुमने क्या कभी कुछ सुना है| भारतीय संस्कृति और सभ्यता के अनुसार सभी पशु पक्षी अपने जीवन में मनुस्य के लिए कुछ न कुछ काम अवश्य आये है | उसी प्रकार से उल्लू भी एक ऐसा पक्षी है जो के तांत्रिक विद्या में काफी लाभदायक साबित हो सकता है| उल्लू के उपाय जानने के लिए मौलाना जी कुछ उपदेश देते है| जो कुछ इस प्रकार है इसमें मौलाना जी बताते है की उल्लू धन, सुख की देवी माँ लक्ष्मी का वहां है| विज्ञानं के अनुसार इस पक्षी को दिन में कुछ नहीं दिखाई देता पर घने अँधेरे में सब कुछ दिखाई देता है| तभी इसे निशाचर कहा जाता है|

उल्लू को रामायण में भी महर्षि वाल्मीकि ने चतुर बताया है| उल्लू संगीत सिखने का प्रतीक भी माना गया है| अगर रामायण पर कुछ और धयान दिया जाये तो भगवन श्री राम ने सुग्रीव को कहा था की उल्लू की चतुराई से बचना और समझना आवश्यक है| इस उल्लू में कई रहस्यमई शक्तिया छिपी है| गरिकवासी प्राचीन काल से ही उल्लू को धन और दौलत का प्रतीक मानते है| मौलाना जी बताते है की उल्लू काळा जादू का सबसे अच्छा साधन है| मौलाना जी क

हते है कला जादू वशीकरण यह सब उल्लू के बिना काफी मुश्किल साबित हो सकता है|

Owl ke totke

totke for owl

वशीकरण के लिए किए गए उपायों में उल्लू के पंख की राख को कस्तूरी के साथ मसलकर शरीर पर लगाने से अचूक परिणाम मिलता है। इसके अतिरिक्त यदि किसी को उल्लू की क़ुरबानी और सिद्धि के बाद उसका सूखा मांस खिला दिया जाए, तो वह काफी अजीब हो जाता है और उसकी शांति भंग हो जाती है। उल्लू के रीढ़ की हड्डी को केसर, कस्तूरी और कुमकुम के साथ मसलकर बनाए गए पाउडर को विभूति के अनुसार प्रयोग करना वशिकरण के लिए उपयोगी है। इसे लगाकर रूठी पत्नी को मनाया जा सकता है या प्रेमिका को वशीभूत किया जा सकता है।

चीनी फ्रेंग्शुई के अनुसार यह उल्लू हर परिस्तिति में सुरक्षा प्रदान करता है| और जापानियों के अनुसार उल्लू उनकी मुसीबत में रक्षा करता है | और अगर अब मैं भारतयो की बात करू तो ये तंत्र विद्या में बहुत प्रभाव शाली होता है | उल्लू चमत्कारी सक्तियो का संकेत है | यह माना जाता है की इसके हाव भाव, बोली और उड़ान भरने की स्थिति से भूत, भविस्ये और वर्तमान के सभी परिस्थितियों का पता लगाया जा सकता है|

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *